पुलिस की कार्रवाई से दहशत में लोग, गांव में पसरा सन्नाटा दुर्घटना में हुई मौत के बाद आक्रोशित लोगों ने एएसआई को कर दी थी पिटाई

Spread the love

चतरा जिले के टीकर में सड़क दुर्घटना के बाद एएसआई के मारपीट मामले में पुलिस ने 49 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दी है। 200 अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कराया है। पुलिस के भय से सदर थाना क्षेत्र के डहुरी गांव के लोग डरे व सहमे हैं और लोग दहशत में हैं. लोग गांव छोड़कर अन्यत्र पलायन कर गये हैं। एक दो महिला व बच्चे नजर आ रहे हैं. पूरा गांव में सन्नाटा हैं। खेती का काम भी रुक गया है। दुकान व घरो में ताला लटक रहा हैं. बच्चे स्कूल नहीं जा रहे हैं. कोई अपने रिश्तेदार तो कोई बाहर चले गये हैं. ग्रामीणों का कहना हैं कि पुलिस वैसे लोगो को भी पकड़ रही हैं, जो घटना में शामिल नहीं थे। कई ग्रामीणों ने बताया कि जो नामजद हैं वो जान रहे हैं, लेकिन अज्ञात में पुलिस किसी को भी पकड़कर जेल भेज सकती हैं। इसलिए गांव छोड़ गये हैं। बालदेव चौक में हमेशा चहल पहल रहती थी। वहां सुनसान है। चौक की दुकानें बंद है। घटना के बाद से पुलिस ने 49 लोगो को गिरफ्तार कर जेल भेज दी है। पुलिस की इस कार्रवाई से गांव के लोग दहशत में हैं. ग्रामीणों को डर है कि पुलिस उन्हें अज्ञात में नामजद करके जेल भेज देगी. राजकीय मध्य विद्यालय डहुरी में घटना के बाद बच्चों की संख्या में काफी कमी आई है। मात्र 20 से 25 बच्चे ही स्कूल पहुंच रहे हैं। घटना के पहले 175 बच्चे पहुंचते थे। विद्यालय में बच्चों की संख्या 250 है। बच्चों की उपस्थिति कम होने के कारण पठन-पाठन कार्य प्रभावित हो रहा है. खेत खलियान में भी सन्नाटा पसरा हुआ है, मवेशियों को कोई देखरेख करने वाला नहीं है। उल्लेखनीय है कि बीते 8 नवंबर की सुबह चंगेर पुल के पास एक पिकअप वैन ने बाईक सवार को अपने चपेट में ले लिया था. जिसमें गांव के पप्पु भुईयां की मौत घटनास्थल पर ही हो गयी थी। जबकि दो लोग घायल हो गये। घटना के बाद काफी संख्या में लोग घटनास्थल पर पहुंचे। सूचना पाकर एएसआई शशिकांत ठाकुर दल बल के साथ वहां पहुंचे। चालक व पिकअप वैन को लेकर थाना जा रहे थे। ग्रामीणों को लगा कि एएसआई चालक व वाहन को भगाने में लगे हैं। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने एएसआई को पकड़कर जमकर पिटाई कर दी। साथ ही बंधक बना लिया था। एएसआई को मुक्त कराने के लिए जवानो ने लाठी चार्ज करना पड़ा। ग्रामीणों ने भी पथराव किया। जिसमे कई जवान व ग्रामीण घायल हो गये। घटना की रात पुलिस अभियान चलाकर 49 लोगो को गिरफ्तार किया। एक साथ इतने लोगो की गिरफ्तारी से लोग डरे व सहमें हैं.

ग्रामीणों ने एसपी राकेश रंजन से घटना का निष्पक्ष जांच कराने की मांग किया हैं. घटना में शामिल लोगो पर ही कार्रवाई करने व निर्दोषो को बेवजह परेशान व जेल नहीं भेजने की मांग की. कहा कि पुलिस की कार्रवाई से डरे व सहमे हैं। इस संबंध में थाना प्रभारी मनोहर करमाली ने बताया कि ग्रामीणों को डरने को कोई बात नहीं है। निर्दोष को नहीं फसाया जाएगा। लेकिन दोषी को बक्सा नहीं जाएगा। हर हाल में गिरफ्तार कर जेल भेजा जाएगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *