जरासंध स्मारक निर्माण का बीड़ा उठाए सीएम नीतीश ने किया स्थल निरीक्षण घोषणा के 12 घंटे के भीतर उन्होंने अपने वादे को पूरा किया

Spread the love

फोटो- जयप्रकाश उद्यान के समीप स्थल निरीक्षण करते सीएम

राजगीर-
जरासंध स्मारक निर्माण की घोषणा को अमली जामा पहनाने को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को अपने लाव लश्कर के साथ स्थल निरीक्षण को निकले। इस क्रम में उनका काफिला राजगीर-गया सड़क मार्ग स्थित जयप्रकाश उद्यान के समीप रूका। जहां उन्होंने अधिकारियों के साथ विशेष विचार विमर्श किया।

बता दें कि बीते रविवार को अंतर्राष्ट्रीय कंवेंशन सेंटर में आयोजित हर घर गंगा जल आपूर्ति परियोजना के लोकार्पण के मौके पर, सीएम नीतीश कुमार ने मगध साम्राज्य के सम्राट राजा जरासंध का अखाड़ा का जिक्र किया था। और कहा था कि इसके समीप भव्य जरासंध स्मारक का निर्माण कराया जाएगा।
उन्होंने कहा था कि महाप्रतापी सम्राट जरासंध मगध का अखाड़ा वर्षों पूर्व से जीर्ण शीर्ण अवस्था में पड़ा हुआ है। जरासंध का अखाड़ा बिहार सरकार के अधीनस्थ नहीं, बल्कि पुरातत्व विभाग के अधीन है। जिसके परिणाम स्वरूप अखाड़ा के विकास के लिए कुछ नहीं कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अखाड़ा के विकास के लिए अनेकों बार प्रयास किए थे। लेकिन इसका परिणाम कुछ भी नहीं निकल सका। बता दें कि जरासंध के अखाड़ा को देखने के लिए आज भी अच्छे संख्या में यात्री लोग राजगीर आते हैं। और अखाड़ा से रूबरू होते हैं। अगर अखाड़ा के आस पास जरासंध का स्मारक के निर्माण कराया जाएगा तो एक बेहतर संदेश आने वाली यात्रियों को मिलेगा। वही मुख्यमंत्री अन्य स्थलों के निरीक्षण के उपरांत उस पर भी चर्चा किए। और उन्होंने घोषणा के 12 घंटे के भीतर जरासंध स्मारक बनाने के लिए स्थल निरीक्षण किया।
मुख्यमंत्री सुबह में वेणुवन में प्रवेश करने के बाद भ्रमण करने के दौरान वेणुवन के वर्तमान समय के सारे चीजों से रूबरू हुए तथा उन्होंने वर्तमान स्थिति को देखकर खुशी इजहार किए। इधर मुख्यमंत्री सोमवार की शाम यहां के गरम कुंड में स्नान किये। इस मौके पर कई नेता व अधिकारी लोग मौजूद थे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *