सड़क लूट कांड के झूठी कहानी रचने वाले सभी पात्र गिरफ्तार। लूट के 1लाख 72 हजार व मोबाइल बरामद।

Spread the love

राजगीर-
राजगीर पुलिस ने फर्जी लूटकांड का खुलासा करते हुए प्राथमिकी कर्ता सहित लूटकांड में शामिल उसके दो सहयोगियों को गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया । गिरफ्तार लोगों में जमुई जिला लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र के तेतरीया गांव निवासी प्रदीप कुमार , लक्ष्मीपुर थाना क्षेत्र के नौडिया गांव निवासी अनिल कोड़ा, तथा टेंगहडा गांव निवासी मुकेश दास शामिल है।
लुटेरा अनिल कोड़ा के घर से लुट का एक लाख बाइस हजार रुपए और मुकेश दास के घर से लुट का पचास हजार रुपए भी बराम करने में पुलिस सफल रही है।

डीएसपी प्रदीप कुमार ने प्रेस वार्ता करते हुए बताया कि 12‌ दिसंबर को जमूई जिला के लक्ष्मीपुर थानाक्षेत्र स्थित तेतरिया ग्राम निवासी जितेंद्र कुमार ने थाना में आकर लिखित आवेदन दिया था। जिसमें बताया गया था कि राजगीर-गिरियक रोड स्थित विशेश्वर नगर गाँव के समीप एक अपाची मोटरसाईकिल पर सवार तीन व्यक्तियों ने मेरे वैन का ओवरटेक किया।वैन को रूकवा कर पिस्टल के सहारे मालिक द्वारा सर्फ की थोक
खरीदारी के लिए दिया गया 1लाख 72हजार रू तथा मेरा एक मोबाईल फोन लूट कर गिरियक की ओर फरार हो गया। उन्होंने कहा कि आवेदन के आधार पर पुलिस ने राजगीर थाना कांड सं.687/22 धारा 392 भादवि दर्ज किया गया था। मामले की गंभीरता को देखते हुए टिम गठित कर तकनीकी और मानवीय अनुसंधान शुरू किया गया।इस दौरान पर चालक जितेन्द्र की गतिविधियां संदिग्ध प्रतीत हुई।वह अपना बयान बार-बार बदल रहा था। जिससे पुलिस का शक जितेंद्र पर गहराया और तब पुलिस ने सख्ती बरती तो लूट की झूठी कहानी और लूट का पुरा तानाबाना सामने आ गया। फिर पुलिस ने छापामारी कर इस कहानी के सभी पात्र को अलग-अलग स्थानों से गिरफ्तार कर लिया।

इस छापामारी दल में राजगीर डीएसपी प्रदीप कुमार व थानाध्यक्ष सह इंस्पेक्टर मो मुश्ताक के अलावे पुअनि ज्ञान रंजन व प्रभाकर कुमार झा, डीएपी सि. शकील अंसारी, बीएमपी सि. मेजर कुमार, जितेन्द्र कुमार, श्याम पासवान सहित चालक सि. अमित कुमार शामिल रहे।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *