दिल्ली पुलिस पहुंची नवादा दो सायबर ठग को किया गिरफ्तार,

Spread the love

एक करोड़ एक लाख रुपये,16 मोबाइल व 25 एटीएम कार्ड को दिल्ली पुलिस ने किया जप्त ।

नवादा:शनिवार की देर रात्रि दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम रजौली पहुंची।जहां से थानाध्यक्ष दरबारी चौधरी के नेतृत्व में थाना क्षेत्र के जोगियामरण पंचायत के तिलैया गांव के सुरेंद्र मांझी के पुत्र पहलाद कुमार के घर पर घेराबंदी कर छापेमारी किया गया।वहां से नालंदा जिले के कतरीसराय थाना क्षेत्र के कतरडीह गांव के निवासी जोधन भुइयां के पुत्र चंदन कुमार को हिरासत में लिया गया घर में तलाशी के दौरान बैग में 34 बैग में भरा हुआ रुपया मिला।जिसे जप्त कर थाने पर लाया गया और गिरफ्तार चंदन से पूछताछ की गई।उसके निशानदेही पर दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम नालंदा जिले के कतरीसराय थाना क्षेत्र के छाछू बीघा गांव में रविवार की सुबह कपिलदेव सिंह के घर छापेमारी कर उनके पुत्र गोपाल कुमार को गिरफ्तार किया और वहां से भी कुछ नगद रुपया बरामद कर अपने साथ लेकर रजौली पहुंची। और दोनों से पूछताछ की गई दिल्ली क्राइम ब्रांच से आई एसआई मानवेंद्रर ने बताया कि एक दिसंबर 2022 को दिल्ली के रहने वाले मुंशी राम जैन के पुत्र जुगल किशोर जैन ने क्राइम ब्रांच में एक कंप्लेन दायर किया था जिसमें उन्होंने बताया था कि अल्ट्राटेक सीमेंट 200 रुपया प्रति बैग देने के नाम पर हम से 58 लाख रुपया का ठगी किया गया है। जुगल किशोर जैन बड़े सीमेंट व्यापारी हैं दर्ज कंप्लेंट के बाद पूरी टीम एक-एक बिंदु पर जांच की गई और सर्विलांस के माध्यम से यहां तक पहुंचे हैं। इन लोगों के पास से एक करोड़ एक लाख रुपया नगद 16 मोबाइल अन्य कई सामान बरामद की गई है। दिल्ली से आए क्राइम ब्रांच के एसआई ने बताया कि 58 लाख के अलावे जो रुपया इन लोगों के पास से बरामद किए गए है। उसके बारे में इन लोगों से गहन पूछताछ किया जा रहा है। गिरफ्तार दोनों जालसाज को दिल्ली क्राइम ब्रांच की टीम नवादा न्यायालय में पेश कर रिमांड पर ले कर अपने साथ ले जाने की प्रक्रिया में जुट गई है। पूरी प्रक्रिया के दौरान सर्किल इंस्पेक्टर नियाज अहमद छापेमारी दल में रजौली थाने से एसआई धीरज कुमार, एसआई अविनाश कुमार सहित दर्जनों पुलिस बल के जवान मौके पर उपस्थित रहे। बताते चलें कि तिलैया गांव में छापेमारी के बाद सुबह से ही गांव से लेकर रजौली बाजार तक लोगों के जुबान पर एक ही चर्चा था कि इस फुशनुमा घर में एक करोड़ रूपया आखिर कैसे रखकर इत्मीनान से यह लोग रह रहे थे। चंदन के ससुराल के लोग का भी रहन-सहन कोई खास नहीं था इस वजह से आसपास के लोगों को कभी भी इसका अंदाजा नहीं हुआ। पुलिस सूत्रों का भी माने तो चंदन के ससुराल में घर में पैसा कूड़े कचरे की तरह इधर-उधर फेंका हुआ था मानो कि उसका कोई महत्व नहीं था पुलिस की टीम छापेमारी के दौरान कूड़े कचरे की तरह पैसा को फैला देखकर दंग रह गई।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *